भारतीय मसाले न केवल अपने स्वाद के लिए, बल्क‍ि स्वास्थ्यवर्धक गुणों के कारण पूरी दुनिया में मशहूर हैं। तड़के लगाने के लिए सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला जीरा भी इसमें शामिल है। आयुर्वेदिक डॉक्टरों और विशेषज्ञों की मानें तो जीरा में कुछ ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जिससे दिल से संबंधित बीमारियों का खतरा कम होता है और गर्भावस्था के बाद इसे पीने से कई फायदे होते हैं।  
बॉडी कॉलेस्ट्रॉल और बीपी ठीक करता है।  इससे दिल की बीमारी का खतरा कम होता है। 
शरीर में ग्लूकोज का स्तर ठीक रहता है, डायबिटीज का खतरा भी कम होता है। 
डिलीवरी के बाद जीरे वाला पानी वजन घटाने में मददगार होता है। 
कहते हैं गर्भावस्था के बाद जीरा पानी पीने से जिन मांओं को दूध न बनने की समस्या होती है, वह खत्म हो जाती है. जीरा वाला पानी पीने से दूध बनने लगता है।
जीरा पानी से रक्त संचार ठीक होता है. शरीर में समान रूप से रक्त का संचार होता है, जिससे मांसपेशियों के विकास में भी मदद मिलती है। मांसपेशियों में लगी चोट भी इससे ठीक होती है।
जीरा पानी पीने से मेटाबोलिज्म ठीक होता है. इसकी वजह से वजन नहीं बढ़ता।
जीरा पानी खून की कमी यानी कि अनीमिया से भी बचाता है।
बुखार कम करने में भी जीरे का पानी कारगर है। इसे पीने से छोटा-मोटा बुखार तो ऐसे ही उतर जाता है।
जीरा पानी पीने से नींद अच्छी