शेख मुख्तियार की शेखी ध्वस्त:हिस्ट्रीशीटर मुख्तियार के अवैध कब्जों पर चला निगम का बुलडोजर, ग्रीन बेल्ट में बना लिए थे 15 गोदाम और दुकान
 

सरकारी जमीन पर बने मुख्तियार के अवैध निर्माण को जमींदोज किया।

गुंडों और माफियाओं की आर्थिक रूप से कमर तोड़ने की कार्रवाई शनिवार को भी जारी रही। सुबह पुलिस-प्रशासन ने निगम की टीम के साथ मिलकर विजय नगर थाना क्षेत्र में गुंडे शेख मुख्तियार के अवैध निर्माणों को ध्वस्त किया। निगम की टीम ने पुलिस के साथ मिलकर मुख्तियार के 15 अवैध निर्माणों पर बुलडोजर चला दिया।

एलआईजी लिंक रोड पर कार्रवाई करने पहुंची टीम।

कार्रवाई के लिए एलआई लिंक रोड पर खड़ीं मशीनें।


नगर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस के एंटी माफिया अभियान के तहत सुबह निगम के अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह, उपायुक्त लता अग्रवाल निगम टीम के साथ एलआइजी लिंक रोड चौराहे पर पहुंची और फिर यहां से जेसीबी और पोकलेन मशीन लेकर राधिका कुंज कॉलोनी पहुंची। यहां पर शेख मुख्तियार के सरकारी जमीन पर बने अवैध गोदामों और दुकानों को ध्वस्त किया गया। जानकारी अनुसार मुख्तियार के खिलाफ अलग-अलग थानों में एक दर्जन केस दर्ज हैं। उसने रौब के दम पर ग्रीन बेल्ट की जमीन पर 15 दुकान और बड़े गोडाउन तैयार कर रखे थे। बता दें कि निगम की टीम ने कुछ समय पहले भी मुख्तियार के अवैध कब्जों को ढहाया था, लेकिन उसने फिर से अवैध निर्माण कर लिए थे।

गोदाम के ताले तोड़ने निगम ने चलाए हथौड़े।

अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह ने बताया कि जिन अपराधियों ने अपने रसूख का इस्तेमाल कर अवैध निर्माण कर लिए हैं, उन्हें तोड़ने की कार्रवाई की जा रही है। उसी कड़ी में सुबह ग्रीन बेल्ट की जमीन पर शेख मुख्तियार के अवैध निर्माण को ध्वस्त किया गया है। उस पर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। उसने इस इलाके में 15 अवैध निर्माण कर रखे थे, जिन्हें जमींदोज किया गया।

मुख्तियार पर पहले भी निगम ने कार्रवाई की थी।

बता दें कि पुलिस ने 15 बड़े गुंडे और माफियाओं की लिस्ट बनाई है। निगम के साथ मिलकर इन पर कार्रवाई की जा रही है। इसके पहले साजिद चंदनवाला, जीतेंद्र उर्फ नानू तायड़े, मनोहर वर्मा, अश्विन सिरोलिया, अरुण वर्मा, लकी वर्मा और नाबालिगों के शोषण के आरोपी प्यारे मियां के अवैध निर्माण पर कार्रवाई की जा चुकी है। इतना ही नहीं प्रशासन ने कम्प्यूटर बाबा और उनके करीबी रमेश तोमर के अवैध निर्माणों को भी ध्वस्त कर लिया है।