नोवल कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव के लिए विदेशी नागरिक अथवा जिले के ऐसे लोग जो विदेश यात्रा कर एक मार्च के बाद कांकेर जिला अथवा अपने गांव या शहर आए हैं, उनका अनिवार्यतः स्वास्थ्य परीक्षण कर सेम्पल लिया जा रहा है, अब तक ऐसे 15 व्यक्तियों का सेम्पल लिया जा चुका है, जिन्हें जांच के लिए मेडिकल कॉलेज जगदलपुर भेजा गया है।
नोवल कोरोना वायरस के नियंत्रण की समीक्षा के लिए गठित जिला स्तरीय कोर कमेटी की बैठक कलेक्टर श्री के.एल. चौहान की अध्यक्षता में आयोजित की गई जिसमें उन्होंने बताया कि कांकेर जिले में 38 लोगों द्वारा विदेश यात्रा की गई है, जिनका सेम्पल लिया जा रहा है, उन्होंने ऐसे सभी लोगों से अपील किया है कि सेम्पल के समय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों का सहयोग करें। बैठक में बताया गया कि जिले के 2054 व्यक्तियों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.एल. उईके ने बताया कि कांकेर जिले में 38 व्यक्तियों को चिन्हांकित किए गए हैं जो एक मार्च के बाद विदेश यात्रा कर लौटे हैं, इनमें अंतागढ़ विकासखण्ड के एक, भानुप्रतापपुर के 04, चारामा के एक, कांकेर विकासखण्ड के 22 और कोयलीबेड़ा विकासखण्ड के 10 नागरिक शामिल हैं।
 कलेक्टर श्री चौहान ने अन्य राज्यों एवं दूसरे जिलों के कांकेर जिले में फंसे हुए मजदूरों के भोजन, आवास इत्यादि की भी समीक्षा करते हुए कहा कि सभी व्यक्तियों के लिए भोजन व आवास की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है तथा समय-समय पर स्वास्थ्य परीक्षण भी किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद लोगों के लिए जिले में पर्याप्त मात्रा में राशन व खाद्य सामग्री उपलब्ध है। किसी भी व्यक्ति को इस प्रकार की दिक्कत हो तो वे जिला प्रशासन द्वारा स्थापित नियंत्रण कक्ष में सूचित कर सकते है। उन्होंने स्वयं सेवी संगठनों से भी कहा है कि जरूरतमंदों लोगों की जिला प्रशासन के माध्यम से मदद करें। कलेक्टर ने कहा कि आम आदमी को वाजिब मूल्य पर राशन व किराना समान उपलब्ध कराने के लिए व्यावसायियों द्वारा सहयोग किया जा रहा है, तथापि यदि कोई दुकानदार अधिक मूल्य पर सामग्री का विक्रय करता है, तो उसकी सूचना कंट्रोल रूम नंबर- 07868-241249  में दिया जावे।
बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे, अपर कलेक्टर सी.एल. मार्कण्डेय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.एल. उईके, डॉ. डी.के रामटेके, डॉ डी.एन.नाग, उपायुक्त आदिवासी विकास विभाग विवेक दलेला, जिला शिक्षा अधिकारी राकेश पाण्डेय, डिप्टी कलेक्टर डॉ. कल्पना ध्रुव एवं उत्तम पंचारी, डीपीएम डॉ. निशा मौर्य, महिला एवं बाल विकास विभाग से नंदा नंदन सारंगी सहित जिला चिकित्सालय के स्टॉफ मौजूद थे।