• धवलपुर रेंज के पारागांव की घटना, 20 हाथियों का दल ओडिशा की ओर हुआ था रवाना
  • बिजली विभाग की लापरवाही बनी कारण, ग्रामीणों की शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं

छत्तीसगढ़ में हाथियों की मौत का सिलसिला एक बार फिर शुरू हो गया है। अब गरियाबंद में एक हाथी की करंट लगने से मौत हो गई। नर हाथी 11 केवी के बिजली तार की चपेट में आ गया। हादसा विद्युत विभाग की लापरवाही के चलते हुआ है। घटना धवलपुर रेंज के पारागांव की है। पिछले 4 माह के दौरान प्रदेश में 12 हाथियों की मौत हो चुकी है।

मैनपुर और धवलपुर इलाके में 20 हाथियों का समूह घूम रहा था। सोमवार सुबह हाथियों का समूह ओडिशा की ओर बढ़ रहा था। इसी दौरान पारागांव में एक नर हाथी 7 से 8 फीट की ऊंचाई पर लटक रहे तार की चपेट में आ गया।
मैनपुर और धवलपुर इलाके में 20 हाथियों का समूह घूम रहा था। सोमवार सुबह हाथियों का समूह ओडिशा की ओर बढ़ रहा था। इसी दौरान पारागांव में एक नर हाथी 7 से 8 फीट की ऊंचाई पर लटक रहे तार की चपेट में आ गया।
जानकारी के मुताबिक, पिछले एक सप्ताह से मैनपुर और धवलपुर इलाके में 20 हाथियों का समूह घूम रहा था। बताया जा रहा है कि सोमवार सुबह हाथियों का समूह ओडिशा की ओर बढ़ रहा था। इसी दौरान पारागांव में एक नर हाथी लटक रहे 11केवी के बिजली के तार की चपेट में आ गया। बिजली के यह तार महज 7 से 8 फीट की ऊंचाई पर लटक रहे हैं।

ग्रामीण बोले- कई बार शिकायत की, लेकिन तार नहीं हटाए गए
ग्रामीणों का कहना है कि खेत के ऊपर लटक रहे तारों को लेकर कई बार विद्युत विभाग से शिकायत की, लेकिन नहीं हटाया गया। डीएफओ मयंक अग्रवाल ने उन्होंने बताया कि एक दंतैल हाथी की करंट लगने से मरा है। उन्होंने भी इसमें बिजली विभाग की लापरवाही की बात कही है। साथ ही बताया कि आगे आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।

चार माह में 12 हाथियों की हो चुकी है मौत
छत्तीसगढ़ में महज चार माह में 12 हाथियों की मौत हो चुकी है। इनमें से 3 सितंबर माह में ही मारे गए हैं। 26 सितंबर को महासमुंद में करंट लगने से हाथी की मौत हुई। उससे पहले 22 तारीख को धरमजयगढ़ के मेंढरमार में करंट से हाथी की मौत हुई थी। इस संबंध में पीसीसीएफ ने रिपोर्ट मांगी है। साथ ही लटके तारों को भी हटाने के लिए कहा है।

जून में ही 6 हाथियों ने दम तोड़ा

28 सितंबर : गरियाबंद में बिजली विभाग की लापरवाही से तार की चपेट में आकर हाथी की मौत
26 सितंबर : महासमुंद के पिथौरा में शिकारियों ने करंट लगाकर हाथी को मारा
23 सितंबर : रायगढ़ में धरमजयगढ़ के मेंढरमार में करंट लगने से हाथी की मौत
16 अगस्त : सूरजपुर में जहरीला पदार्थ खाने से नर हाथी की मौत
24 जुलाई : जशपुर में करंट लगाकर नर हाथी को मारा गया
9 जुलाई : कोरबा में 8 साल के नर हाथी की इलाज के दौरान मौत
18 जून : रायगढ़ के धरमजयगढ़ में करंट से हाथी की मौत
16 जून : रायगढ़ के धरमजयगढ़ में करंट से हाथी की मौत
15 जून : धमतरी में माडमसिल्ली के जंगल में कीचड़ में फंसने से हाथी के बच्चे ने दम तोड़ा।
11 जून : बलरामपुर के अतौरी में मादा हाथी की मौत हुई थी
9 व 10 जून : सूरजपुर के प्रतापपुर में एक गर्भवती हथिनी सहित 2 मादा हाथियों की मौत हुई।