रायपुर।  अगर आप शहर की सूनसान सड़कों पर अकेले निकल रहे हैं, तो जरा सावधान हो जाएं। दरअसल, राजधानी रायपुर में बदमाश अब नए तरीके से लूटपाट कर रहे हैं। पुलिस को धोखा देने और अपनी पहचान छिपाने के लिए बदमाश युवतियों की वेशभूषा में घूम रहे हैं। ये बदमाश स्कूटी में सलवार, समीज पहनकर और दुपट्टा ओढ़कर निकलते हैं। रास्ते में कोई अकेला शिकार दिख जाए, तो उसे धमका कर पैसे, मोबाइल छीन लेते हैं। इन बदमाशों ने कुछ महिलाओं की चेन भी लूटी हैं। यही नहीं, बदमाश लोगों को ब्लैकमेल भी कर रहे हैं। लगातार इस तरह की घटनाएं सामने आने से पुलिस भी परेशान है। अभी तक युवती के भेष में घूमकर लूटपाट कर रहे इन बदमाशों का पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला है।

शाम ढलते ही शहर के सूनसान इलाके में युवतियों की वेशभूषा में बदमाश सक्रिय होकर लूटपाट की वारदात अंजाम दे रहे हैं। शुरू में पीड़ितों को लगा कि यह काम किन्नारों का हो सकता है। पुलिस ने किन्नारों को पकड़कर पूछताछ ली, लेकिन इस तरह की वारदातों में उनका हाथ नहीं था। इससे पुलिस भी हैरान है कि आखिर ये बदमाश कौन हैं।

इन जगहों पर हुई वारदातें

पिछले दिनों खमतराई इलाके में एक किशोरी को अकेला पाकर बदमाशों ने उसकी कान की बालियां छीन ली थीं। शिकायत मिलने पर पुलिस ने संदेह के आधार पर दो किन्नारों को हिरासत में भी लिया, लेकिन पूछताछ के बाद छोड़ दिया। इसी तरह खमतराई के भनपुरी सब्जी बाजार से लौट रही अकेली महिला को के गले से चेन खींचकर बदमाश भाग निकले। सिटी कोतवाली के टैगोर नगर में भी एक महिला लूट की शिकार हो गई। पीड़ित बच्ची और महिला ने पुलिस को जानकारी दी कि लूट करने वाले बदमाशों ने युवतियों की तरह कपड़े पहने थे। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है, लेकिन अभी तक अपराधी गिरफ्त से बाहर हैं।

बदनामी के डर से नहीं करा रहे एफआईआर

उरला, खमतराई इलाके में मजदूर वर्ग के लोगों को बदमाशों ने धमकाते हुए पैसे और मोबाइल लूट लिया। मजदूरों को वारदात के समय लगा था कि महिला कहीं लूट के बाद पकड़े जाने पर उल्टा उनके खिलाफ छेड़-छाड़ का आरोप लगा दे। लिहाजा, लूट के शिकार पीड़ित थाने आकर शिकायत तो कर रहे हैं, लेकिन एफआइआर दर्ज कराने से बच रहे हैं। इसी वजह से पुलिस भी इन बदमाशों को दबोचने कोई दिलचस्पी नहीं ले रही है।

युवतियों की वेशभूषा में बदमाशों के लूट करने की शिकायतें मिली हैं। मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही अपराधी पकड़े जाएंगे। लोगों से अपील है कि यदि उनके साथ ऐसी कोई घटना होती है, तो संबंधित पुलिस थाने में जाकर शिकायत जरूर दर्ज कराएं।