रायपुर। छत्तीसगढ़ में तम्बाकू नियंत्रण के लिए अंतर्विभागीय वेबीनार का ऑनलाईन आयोजन किया गया। यह आयोजन राज्य तम्बाकू नियंत्रण सेल के सहयोग से तम्बाकू उत्पादों के दुष्प्रभावों के प्रति जागरूकता लाने संचालनालय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग और संस्था द यूनियन दिल्ली के समन्वय से किया गया।
    वेबीनार की अध्यक्षता संचालक स्वास्थ्य सेवाएं  नीरज बंसोड़ ने की। बंसोड़ ने राज्य में तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के बेहतर संचालन हेतु अंतर्विभागीय समन्वय करते हुये संबंधित सभी विभागों को जिम्मेदारी से कार्य करने की आवश्यकता के संबंध में बताया। कार्यक्रम में जिलों के प्रतिनिधियों द्वारा समूह चर्चा के माध्यम से तम्बाकू नियंत्रण के विभिन्न पहलुओं एवं अपने अनुभवों को साझा किया गया।
    कार्यक्रम में डॉ. राणा जगदीप सिंह द यूनियन एवं डॉ. कमलेश जैन द्वारा प्रशिक्षण के संबंध में प्रांरंभिक जानकारी दी गई। डॉ. शिवम तकनीकी सलाहकार द यूनियन द्वारा प्रशिक्षण के उद्देश्य के बारे में बताया। डॉ. शिल्पा जैन ने तम्बाकू के सेवन के हानिकारक प्रभावों के बारे में जानकारी दी। डॉ. अमित यादव ने कार्यक्रम अंतर्गत अंतरविभागीय एवं सामाजिक संस्थाओं की भूमिका से अवगत कराया।  प्रबोध नन्दा द्वारा सामुदायिक गतिविधि के संबंध में अपनी अनुभव साझा किये। डॉ. दीक्षा पूरी द्वारा तम्बाकू मूक्त शैक्षणिक संस्थानों की गाईड लाईन की विस्तृत जानकारी दी तथा सुश्री ख्याति जैन द्वारा राज्य में कोटपा एक्ट 2003 एवं तम्बाकू मूक्त शैक्षणिक संस्थान के क्रियान्वयन के सबंध में विस्तृत चर्चा करते हुये अंतर्गत विभागीय सहयोग की आवश्यकता को बताया।
    वेबीनार में स्कूल शिक्षा विभाग, उच्च शिक्षा विभाग, पुलिस विभाग, परिवहन विभाग, श्रम विभाग, बिहान, खाद्य एवं औषधी सुरक्षा प्रशासन, नगरीय प्रशासन, जनसम्पर्क विभाग, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन एवं इंडियन डेंटल एसोसिएशन, पर्यटन विभाग, पंचायतीराज, सामाजिक संस्थाएं एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने भाग लिया। कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन डॉ. कमलेश जैन राज्य नोडल अधिकारी द्वारा किया गया।