बिलासपुर । बिलासपुर रेलवे क्षेत्र बहुत बड़े पैमाने पर फैला हुआ है।इस शहर में रेलवे का जोन ऑफिस होने के बावजूद रेलवे प्रशासन सोता हुआ नजर आ रहा है। बिलासपुर रेलवे क्षेत्र में सड़कों के किनारे बड़े पैमाने पर बाहरी लोगो का बसेरा बनता जा रहा है।बाहर से आने वाले इन लोगो ने रेलवे क्षेत्र में सड़क के किनारे अपना डेरा डंडा डाला हुआ है। एक तरफ रेलवे अपने क्षेत्र को सुव्यवस्थित करने की बड़ी बड़ी बाते करता है,वही दूसरी ओर बाहर से आये लोग रेलवे की जमीन पर अस्थाई जमावड़ा करते जा रहे है।
ऐसा लगता है कि बिलासपुर रेलवे प्रशासन चीर निद्रा में मदमस्त पड़ा हुआ है। रेलवे को इन मामलो पर जागने की आवश्यकता है। क्या रेलवे प्रशासन केवल स्टेशन की साफ सफाई तक ही सीमित है।ऐसे ही रेलवे प्रशासन सोने में मस्त रहा तो बड़े पैमाने पर रेलवे की जमीनों में बाहर से आये लोगो का बसेरा बन जायेगा। इस मामले पर रेलवे के अफसरों से बात करने की कोशिश भी की गयी,पर किसी भी बड़े अफसर से बात नही हो सकी।
वही दूसरी ओर बिलासपुर पुलिस प्रशासन भी इन मामलो में अंजान नजर आया।बाहर से आये हुए यह लोग शहर में कोई भी अप्रिय घटना करके वापस जा सकते है।इस प्रकार के आये हुए लोगो की नियमित जानकारी पुलिस विभाग के पास होनी चाहिए।लॉक डाउन के समाप्त होते ही ट्रेन शुरू हो चुकी है।बहुत बड़े पैमाने पर इस प्रकार के बाहरी लोगो का आना शुरू हो गया है।और अक्सर इस प्रकार के लोग ठण्ड के समय बड़े शहरों की ओर रुख करते है। ठण्ड के समय बड़ी संख्या में चोरी डकैती के मामले सामने आते है। इन सब घटनाओं से शहर के लोगो को बचाने की जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की है।