राजनांदगांव. छत्तीगसगढ़ (Chhattisgarh) के राजनांदगांव (Rajnandgaon) जिले से मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है. कड़ाके की ठंड में शहर के स्टेशन पारा के नाले में नवजात शिशु को फेंकने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोप है कि इस शख्स ने पहले नाबालिग (Minor) को झांसा देकर उसके साथ लगातार दुष्कर्म (rape) किया. जब नाबालिग गर्भवती हुई तो उसने अपने ही घर की छत पर उसकी डिलीवरी करा ली. फिर नवजात बच्चे को नाले में भी फेंक दिया. आरोपी पर केस दर्ज कर पुलिस (Police) पुलिस ने उसे कोर्ट (Court) में पेश किया. फिलहाल आरोपी को जेल भेज (Jail) दिया गया है.

नाबालिग से अनाचार का आरोप

मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी संजय कश्यप ने अपने ही पड़ोस में रहने वाली एक नाबालिग लड़की को अपनी हवस का शिकार बनाया. आरोपी आपसी जान-पहचान का फायदा उठाकर अक्सर नाबालिग को अपनी कार में बिठा कर घुमाने ले जाया करता था. इस दौरान उसने जबरदस्ती नाबालिग से शारीरिक संबंध बनाएं. इसके बाद इसका वीडियो तैयार किया और फिर लगातार नाबालिग को धमकाकर लगातार उसके साथ दुष्कर्म करता रहा. इसके बाद चलते युवती गर्भवती हो गई.
नाले में जीवित मिला था नवजात शिशु

नाबालिग के गर्भवती होने के बाद आरोपी ने अपने ही घर की छत पर उसकी डिलीवरी कराई. इसके बाद जन्मे नवजात शिशु को स्टेशन पारा के नाले में फेंक दिया था. दूसरे दिन जब वार्ड वासियों की नजर नाले पर पड़ी तो इस मामले की सूचना तत्काल चिखली पुलिस को दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस की टीम ने नवजात शिशु को नाले से निकालकर तत्काल अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल कराया. जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी.
आरोपी को जेल भेजा गया

इस मामले में एएसपी यूबीएस चौहान का कहना है कि स्टेशन पारा के नाले में नवजात शिशु पुलिस ने बरामद किया था. इस बाद मामला दर्ज कर जांच की जा रही थी. जांच के दौरान आरोपी संजय कश्यप द्वारा नाबालिग से दुष्कर्म करने और नाबालिग के गर्भवती होने के बाद घर की छत पर ही डिलीवरी कराने और नवजात शिशु की नाले में फेंकना पाया गया. पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर आरोपी को न्यायालय में पेश किया, जहां न्यायालय ने उसे जेल भेज दिया है.