सिडनी । भारतीय टीम को दूसरे एकदिवसीय क्रिकेट मैच में भी मेजबान ऑस्ट्रेलियाई टीम के हाथों 51 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा है। इसी के साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने तीन मैचो की इस सीरीज में 2-1 की अजेय बढ़ हासिल कर ली है। ऑस्ट्रेलयाई टीम ने पहला एकदिवसीय मैच भी 66 रनों से जीता था। इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अनुभवी बल्लेबाज स्टीव स्मिथ के शानदार शतक 104 रनों की सहायता से चार विकेट पर 389 रन बनाये। इसके बाद जीत के लिए मिले 390 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवरों में नौ विकेट पर 338 रन ही बना पायी। भारत की ओर से कप्तान विराट कोहली ने सबसे ज्यादा 89 रन और लोकेश राहुल ने 76 रन बनाये पर जीत के लिए ये पर्याप्त नहीं था। शिखर धवन 30,मयंक अग्रवाल 28 रन बनाकर आउट हो गये। शीर्ष क्रम की विफलता इस मैच में फिर सामने आयी। पहले एकदिवसीय मैच की तरह ही इस मैच में भी भारतीय गेंदबाज नाकाम रहे केवल हार्दिक पंडया ही कुछ हद तक कंगारुओं पर अंकुश लगा पाये। 
इस मैच में मेजबान कंगारुओं की शुरुआत अच्छी रही। कप्तान आरोन फिंच और सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर के बीच पहले विकेट के लिए 142 रनों की साझेदारी हुई। फिंच ने 60 जबकि वार्नर ने 83 रन बनाये। इसके बाद स्टीव स्मिथ के 64 गेंद में बनाए गए शतक की मदद से मेजबान टीम ने 389 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। स्मिथ ने यह दूसरा शतक जमाया। पहले एकदिवसीय में भी उन्होंने शतकीय पारी खेली थी।  
मार्नस लाबुशेन 70 और ग्लेन मैक्सवेल 63 की जोड़ी ने रनों की गति को बरकरार रख अपनी टीम को बेहद अच्छे स्कोर तक पहुंचाया।
मैक्सवेल ने 29 गेंद में चार छक्के और इतने ही चौके की मदद से नाबाद 63 रन बनाये। स्मिथ ने अपनी 104 रन की पारी के दौरान 14 चौके और दो छक्के जड़े जबकि वार्नर ने सात बार गेंद सीमारेखा के पार करायी और तीन छक्के जड़े, हालांकि वह श्रेयस अय्यर के डीप से सीधे फेंके गये शानदार थ्रो के कारण रन आउट होकर शतक नहीं बना पाये। स्मिथ ने अपने पारंपरिक अंदाज में खेलते हुए विकेट के चारों ओर शॉट जमाये और भारतीय गेंदबाजों को कोई अवसर नहीं दिया। उन्हें आउट करने के लिये भारत को हरफनमौला हार्दिक को गेंदबाजी के लिए लाना पड़ा। स्मिथ हार्दिक की गेंद पर शमी के हाथों कैच हुए
इससे पहले वार्नर ने पहले ही ओवर में शमी की गेंद को बाउंड्री के लिए भेजकर आस्ट्रेलियाई पारी शुरू कराई। उन्होंने अपने अंदाज से बड़ी पारी खेलने के इरादे जाहिर कर दिये थे। श्रृंखला के शुरूआती मैच में काफी रन देने वाले भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने मेडन ओवर से शुरूआत की और विकेट से अच्छी रफ्तार हासिल की जिस पर अच्छी खासी घास थी। लेकिन वह जल्द ही लय खो बैठे और आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने धीमी शुरूआत के बाद तेजी पकड़ना शुरू किया। विराट ने युवा नवदीप सैनी को जल्दी ही गेंदबाजी पर लगाया गया पर  वार्नर ने उनपर छक्का लगा दिया। स्पिनर रविन्द्र जडेजा और स्पिनर यजुवेन्द्र चहल भी कंगारुओं पर अंकुश नहीं लगा पाये।