बिलासपुर : कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच 16 सितंबर से स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षा होगी। व्हॉट्सएप और -मेल पर प्रश्नपत्र मिलेगा। पहली बार छात्र-छात्राएं अपने घर से पर्चा हल कर उत्तरपुस्तिका कॉलेज में जमा करेंगे। राज्य या दूसरे जिले में रहने वाले परीक्षार्थी -मेल या स्पीड पोस्ट के माध्यम से भी जमा कर सकेंगे।

अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग ने नियमित, स्वाध्यायी, पूर्व छात्र और पूरक स्नातक और स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष की परीक्षा समय सारिणी बुधवार की रात वेबसाइट पर जारी कर दी है। परीक्षा 16 सितंबर से शुरू होकर 30 सितंबर तक चलेगी। प्रतिदिन चार पालियों में परीक्षा होगी। दो पर्चे के बीच पर्याप्त समय भी मिलेगा। कुल 52 हजार 382 परीक्षार्थी इसमें शामिल होंगे। यूजीसी और राज्य सरकार के आदेश के बाद परीक्षा विभाग के लिए माहांत तक परीक्षा संपन्न कराना बड़ी चुनौती थी। कुलपति प्रो.जीडी शर्मा, कुलसचिव प्रो.सुधीर शर्मा ने इसे स्वीकार किया। परीक्षा नियंत्रक डॉ.प्रवीण पांडेय को 48 घंटे में समय सारिणी तैयार करने का निर्देश दिया। परीक्षा प्रभारी प्रदीप सिंह और विभाग के कन्हैय्या लाल रोहिदास बुधराम पटेल ने इस काम में महज 40 घंटे में पूरा कर पटल पर रख दिया। स्क्रूटनी जांच के बाद वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया।

यूजी-पीजी के परीक्षार्थी

कुल परीक्षार्थी- 52,382

नियमित- 29, 994

स्वाध्यायी- 21,287

पूर्व छात्र- 772

पूरक- 338

इंतजार में हैं 72 हजार

परीक्षा विभाग अभी सिर्फ यूजी और पीजी अंतिम वर्ष की परीक्षा लेगा। इसके बाद स्नातक प्रथम द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष की परीक्षा के लिए समय सारिणी घोषित की जाएगी। इसमें 72 हजार 202 परीक्षार्थी शामिल होंगे। हालांकि यह स्पष्ट है कि इन परीक्षार्थियों को भी अपने घर से पर्चा हल करना होगा।

परीक्षा विभाग के साथ कॉलेजों के लिए भी अब चुनौती बढ़ जाएगी। क्योंकि 52 हजार परीक्षार्थी अपनी उत्तरपुस्तिका लेने कॉलेज (परीक्षा केंद्र) पहुंचेंगे। कोरोना संक्रमण के बीच भीड़ को काबू करना आसान नहीं होगा। दूसरी ओर, छात्र-छात्राओं के साथ अभिभावक भी इसे लेकर चिंतित हैं। हालांकि जिले या दूसरे प्रदेश में रहने वाले परीक्षार्थी -मेल या यूजर आइडी से प्रश्न पत्र और उत्तरपुस्तिका दोनों प्राप्त कर सकेंगे। स्केन कर उसी माध्यम से वापस करना होगा।