रायपुर ।  कोरोना वायरस छत्तीसगढ़  में भी पैर पसारने की फिराक में लगा है। इसके प्रसार को रोकने के लिए छत्तीसगढ़ की सरकार ने कमर कस ली है। सरकार ने इस वायरस के प्रचार प्रसार को रोकने के लिए हर संभव कदम उठा लिए हैं । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार के साथ इस वायरस को रोकने के लिए जनता से लॉक डाउन में सहयोग करने की अपील की है इसके साथ ही छत्तीसगढ़ के संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में रोज कमाने और रोज खाने वाले लोगों को इस लॉक डाउन से कोई तकलीफ ना हो इसके लिए भी कई राहत पैकेज की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के सभी लोगों से निवेदन किया है कि मुख्यमंत्री सहायता कोष में सब अपना थोड़ा थोड़ा योगदान दें जिससे कि विपत्ति की इस घड़ी से निपटा जा सके। मुख्यमंत्री के इस आवाहन के बाद कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने भी मुख्यमंत्री सहायता कोष में ₹11000 की राशि जमा कराई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस संगठन के लोग भी सरकार के हर कदम के साथ हैं. शैलेष नितिन का कहना है कि वे कहीं से भी वेतन प्राप्त नहीं करते, लेकिन वे इस संकट की घड़ी में हर संभव मदद करने को जुट गए हैं. उनका कहना है कि मैंने अपने गृह जिला बलौदाबाजार के लोगों से अपील की है कि वे मुख्यमंत्री सहायता कोष में अधिक से अधिक राशि जमा कराएं, ताकि छत्तीसगढ़ के गरीब तबके के प्रभावित लोगों की मदद की जा सके. त्रिवेदी का कहना है कि भूपेश सरकार लगातार कड़े कदमों के साथ राहतों का ऐलान भी कर रही है. दूसरे राज्यों की तुलना में छत्तीसगढ़ में स्थिति नियंत्रण में है. मुख्यमंत्री स्वयं हर स्थिति की निगरानी कर रहे हैं. उनके आहव्हान पर हमारे बहुत से कार्यकर्ता वॉलिंटियर बनकर काम कर रहे हैं.
आपदा की इस घड़ी में प्रत्येक कांग्रेस जन मजबूत स्तंभ की तरह सरकार के साथ खड़े हैं।